Saturday, August 24, 2013

पंकज उद्धास ........दुःख सुख था एक सबका .


5 comments:



  1. दुःख सुख था एक सबका अपना हो या बेगाना...
    अच्छा लगा सुन कर ...

    आभार !

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर प्रस्तुति.. जी आप अभी तक हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल मे शामिल नही हुए क्या.... कृपया पधारें, हम आपका सह्य दिल से स्वागत करता है।

    ReplyDelete
  3. एक बहुत, बहुत अच्छे गीत से परिचय कराने के लिए आभारी हूं .

    ReplyDelete
  4. वाह...सुन्दर पोस्ट...
    नयी पोस्ट@चुनाव का मौसम

    ReplyDelete
  5. बहुत सुन्दर प्रस्तुति । मेरे नए पोस्ट पर आपका इंतजार रहेगा। शुभ रात्रि।

    ReplyDelete